सिद्ध मधुमेह नाशक कामकल्प

सिद्ध मधुमेह नाशक कामकल्पमहिलाओं और मर्दो के लिए कारगर है ।

शरीर मे दर्दों में से होगी मुक्ति
शुगर से आई कमजोरी को जड़ करेगा पूरा*

अगर शुगर नॉर्मल करनी है तो हमेशा आटा भून कर रोटी बना कर खाए।

‌शुगर 2 दिन में नार्मल होने लगेगी

जब किसी व्यक्ति को मधुमेह की बीमारी होती है। इसका मतलब है वह व्यक्ति दिन भर में जितनी भी मीठी चीजें खाता है (चीनी, मिठाई, शक्कर, गुड़ आदि) वह ठीक प्रकार से नहीं पचती अर्थात उस व्यक्ति का अग्नाशय उचित मात्रा में उन चीजों से इन्सुलिन नहीं बना पाता इसलिये वह चीनी तत्व मूत्र के साथ सीधा निकलता है।

इसे पेशाब में शुगर आना भी कहते हैं। जिन लोगों को अधिक चिंता, मोह, लालच, तनाव रहते हैं, उन लोगों को मधुमेह की बीमारी अधिक होती है।

मधुमेह रोग में शुरू में तो भूख बहुत लगती है। लेकिन धीरे-धीरे भूख कम हो जाती है। शरीर सुखने लगता है, कब्ज की शिकायत रहने लगती है।

अधिक पेशाब आना और पेशाब में चीनी आना शुरू हो जाती है और रेागी का वजन कम होता जाता है। शरीर में कहीं भी जख्म/घाव होने पर वह जल्दी नहीं भरता।

*सबसे बड़ी बात सेक्स कमजोरी हो जाती हैं*
पर आधुनिक विशेषग्य इसपे खुलकर बात नही करते।

मधुमेह या डायबिटीज का एक प्रभाव ऐसा भी है जिस पर अमूमन खुलकर चर्चा कम ही होती है।

सच यह है कि असुविधाजनक चर्चा मानकर छोड़ दिए जाने से इस गंभीर नुक्सान के प्रति जागरूकता लाने का एक महत्वपूर्ण पहलू छूट जाता है।

* आधुनिक विशेषग्यों का मानना है कि मधुमेहग्रस्त स्त्रियों और पुरुषों में सेक्स संबंधी ऐसी शिथिलता आ जाती है जिसके कारण इच्छा होते हुए भी ऐसे मरीज सेक्स के प्रति अक्षम हो जाते हैं।*

पर आयुर्वेद ऐसा नही मानता ,आयुर्वेद अनुसार हर रोग का इलाज है। बस गहरे ध्यान से इलाज की जरूरत होती है।

आयुर्वेद सदियो से शुगर से आई कमजोरी को ठीक करता आया है।

हम बता रहे वो सिद्ध मधुमेह नाशक कामकल्प जो शुगर के मरीज के लिए रामबाण है।

यह दवा महिलाओं और मर्द दोनों के लिए कारगर है।सिद्ध मधुमेह नाशक कामकल्पआप खुद तैयार कर सकते है*
इन्द्रजो तल्ख़ 250 ग्राम
करेला चुर्ण 200 ग्राम
गिलोय 100 ग्राम
चरायता 100 ग्राम
छोटी हरड़ 100 ग्राम
सर्पगन्धा 100 ग्राम
मिचका बीज चुर्ण 100 ग्राम
अश्वगान्ध 100 ग्राम
सतावर 100 ग्राम
आँवला चुर्ण 100 ग्राम
बरगद फल 100 ग्राम (चुर्ण)
तुलसीबीज 100 ग्राम
बाबुल फली 100 ग्राम (बीज रहित)
कौंचबीज काला 100 ग्राम
कंदबीज 100ग्राम
बरगद दूध(सुखा) 100 ग्राम
सालम मिश्री 125 ग्राम
सालम पंजा। 125 ग्राम
जायफल 50 ग्राम
*जावित्री। 50ग्राम
*चार गोंद। 50 ग्राम
*छोटी इलायची 20 ग्राम
*कालीमिर्च। 50

सभी चूर्ण को मिलाकर 500 ग्राम गिलोय रस में भावना दे।
सेवन विधि – सुबह -शाम 3 से 5 ग्राम दूध (बिना मीठा) से लेते रहे

फायदे

★*शुगर कट्रोल में रहेगी*
★*शुगर के कारण आई शरीरक कमजोरी दूर हो जाएगी*
★*शुगर कारण सेक्स कमजोरी दूर होगी।*

***
खानपान में करें परहेज

-अधिक चावल खानें से बचें। चीनी, आलू का सेवन कम करें। मीठे फलों से दूर रहें। मिठाई से बचें।

गुड़, आम, इमली की खटाई, आलू, अरबी, बैंगन, शक्कर, सैक्रिन, सभी मीठे फ़ल, गाजर, कद्दू (पेठा), गेहूं, चावल, तले हुए भोजन, उड़द, मसूर दाल, मांस- मछली, अण्डा-मुर्गा, सभी मादक द्र्व्य, चाय, काफ़ी, तेज मिर्च,अश्लिल-उत्तेजक साहित्य, टीवी, फ़िल्में देखना,अधिक रात्रि तक जागना,औरत प्र्संग आदि से मधुमेही को अवश्य बचना चाहिए । अन्यथा लाभ नहीं होगा।
-***

मधुमेह केरोगी इसका करें सेवन

जौ का आटा 6 किलो में चने का बेसन 2 किलो मिला कर इसकी रोटी खायें ।
***

पत्तागोभी,पालक,मेथी और मेथी दाने का साग, करेला,तुरई (तोरी),गिलकी, घीया (लोकी),टिंडा, परवल,कन्दूरी, बथुआ, चौलाई, मुंग, अरहर,चने की दाल, भुने हुए चने,चने के बेसन से छाछ में बनाई हुई कढी,जीरा प्याज तथा लहसुन से छौंकी हुई, अकेली छाछ,पका हुआ पीला नींबू,नींबू का अचार थोडी मात्रा में, फ़ीका दूध, घी,थोडा मक्खन,जामुन फ़ल,कैथ[कबीट]के गुद्दे की चटनी खा सकते हैं। पथ्य के बिना औषधि सेवन बेकार है। लाभ का कोई चांस नहीं है।

-जौ और गेहूं की रोटी खाएं। मूंग, मसूर और चने की दाल का सेवन करें। करेला, बबूल के फल खाएं।

सिद्ध आयुर्वेदिक
किसी भी शरीरक स्मयसा के लिए contact करे।
Whats 94178 62263

https://ayurvedasidh.blogspot.com/2018/04/online-200-100-100-100-100-100-100-50.html

Advertisements

Published by sidh ayurvedic

हम आप जी के परिवार के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं। इस सेवा में हम आप को आयुर्वेदिक औषधियों, नुस्खे, रोग की जानकारी औऱ समाधान प्रदान करते हैं। आयुर्वेद अनुसार जब आप स्वस्थ्य होते या रहते हैं तो हमे लगता है हम सही आयुर्वेद की सेवा में सही काम कर रहे हैं। यही हमारी ख़ुसी है। और जानकारी के लिए आप whats कर सकते है Whats 94178 62263

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: